प्रॉपर्टी लोन कैसे मिलेगा। loan against property क्या हैं?

Share

प्रॉपर्टी लोन कैसे मिलेगा। loan against property क्या हैं?: सरल भाषा में बताया जाए की loan against property उसे कहते हैं जहाँ पर किसी व्यक्ति और ग़ैर व्यक्ति को धन की ज़रूरत होती हैं तो बो अपनी property को बैंक या NBFC को collateral में देकर लोन लेता हैं। और यह एक secure लोन होता हैं। 

इस प्रकार के लोन में व्याज दर दूसरे लोन(पर्सनल लोन और business लोन)की तुलना में कम होता हैं। और इस लोन को व्यक्ति किसी बूई प्रकार के काम में उपयोगबकर सकता हैं।चाहे फिर व्यापार में लगाना हो, घर को बनाना हो या बच्चों की पड़ाई में देना हो आदि।

how to get loan against property.

Features and benefits of Loan Against Property

लोन अगेन्स्ट प्रॉपर्टी के विशेषतायें और लाभ कुछ इस प्रकार हैं।

1.High Amount loan-

दोस्तों इस प्रकार के लोन में कोई भी व्यक्ति 7Cr तक लोन ले सकता हैं और प्रॉपर्टी की बाज़ार क़ीमत का 80% तक। जो की काफ़ी पर्याप्त होता हैं किसी भी बड़े काम को करने के लिए। और यह लोन काफ़ी ज़्यादा होता हैं अगर आप  पर्सनल लोन से तुलना करे।

2.Low Interest

चुकी यह लोन secure लोन हैं इसी कारण इस लोन की व्याज दर बहुत कम होती हैं अगर हम unsecure पर्सनल लोन या business लोन से तुलना करे तो। Unsecure लोन की व्याज दर 24% तक होती हैं।

See also  MoneyTap loan fees, apply online review in hindi. Is MoneyTap safe ?

3.Longer Repayment Tenure

इस लोन में सबसे बड़ी USP हैं की इसका लोन चुकौती अवधि 20 वर्ष तक जो की काफ़ी ज़्यादा मिलती हैं जिसके कारण आपकी महीने की EMI installment व्याज दर कम होने के कारण कम हो जाती हैं।जबकि Unsecure लोन की चुकौती अवधि 5 वर्ष तक होने के कारण महीने की EMI installment ज़्यादा हो जाती हैं जिससे पेमेंट करने में कभी कभी समस्या का सामना करना पड़ता हैं।

4.Low EMI

जैसे की अभी बताया की चुकौती अवधि ज़्यादा मलने के कारण इसकी महीने की EMI काफ़ी कम हो जाती हैं। जिससे पेमेंट करने में काफ़ी आसानी हो जाती हैं। और अगर आपको लगता हैं आपको EMI ज़्यादा करनी हैं तो आपका चुकौती अवधि कम हो जाएगी। अगर आप चुकौती अवधि बड़ाते हैं तो महीने की EMI कम हो जाएगी।

5.Tax Benefits on Interest Amount

 इस लोन की एक और विशेषता यह है कि यह आपको ब्याज भुगतान पर Tax Benefit का आनंद लेने की अनुमति देता है।  हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये लाभ केवल तभी लागू होते हैं जब आप विशिष्ट उद्देश्यों के लिए स्वीकृति का उपयोग करते हैं।  

 आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 37(1), जब आप किसी व्यावसायिक उद्देश्य के लिए संपत्ति के बदले ऋण का उपयोग करते हैं, तो आपको कटौती की अनुमति मिलती है।  आप भुगतान किए गए ब्याज और प्रसंस्करण शुल्क पर Tax Benefits प्राप्त कर सकते हैं जो व्यवसाय व्यय के रूप में दावा करके किया जाता है।

इसी तरह, यदि आप आवासीय संपत्ति खरीदने के लिए मंजूरी का उपयोग करते हैं, तो आप आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 24 (बी) के तहत भुगतान किए गए ब्याज पर कर कटौती का दावा कर सकते हैं।  अधिकतम कटौती 2 लाख रुपये है और आपको यह सुनिश्चित करते हुए कि वे धारा 24 (बी) के अनुसार हैं, धन के उपयोग के संबंध में पर्याप्त प्रमाण प्रदान करना चाहिए।

See also  LoanTap personal loan ऐप से लोन कैसे अप्लाई करे 2023-

 यह भी ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यदि आप शिक्षा, यात्रा, छुट्टियों, शादियों आदि जैसे व्यक्तिगत खर्चों के लिए मंजूरी का उपयोग करते हैं तो आप कर लाभ का दावा नहीं कर सकते हैं।

6.Purpose free

इस लोन की यह एक और benefits हैं की आप इस लोन का कही भी उपयोग कर सकते हैं। जैसे शिक्षा, यात्रा, छुट्टियों, शादियों,व्यापार और प्रॉपर्टी ख़रीदने में।

loan against property eligibility criteria

उम्र-21-65 वर्ष

पेशा-वेतनभोगी / स्वरोजगार

 राष्ट्रीयता- भारतीय निवासी

 लिंग-सभी लिंग

documents for loan against property

लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी के दस्तावेज इस प्रकार हैं।

वेतनभोगी के लिए

  •  फोटो पहचान प्रमाण, पता प्रमाण: आरबीआई द्वारा परिभाषित केवाईसी दिशानिर्देशों के अनुसार
  •  आय प्रमाण: नवीनतम 2 साल का आईटीआर / फॉर्म 16, पिछले 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट जिसमें सैलरी क्रेडिट, नवीनतम 3 महीने की सैलरी स्लिप हो
  •  चल रहे ऋणों का विवरण: स्वीकृति पत्र, परिशोधन अनुसूची/खाता विवरण
  •  संपत्ति दस्तावेज: संपत्ति शीर्षक कार्यों की पूरी श्रृंखला, स्वीकृत लेआउट / योजना/नक़्शा 

स्वरोजगार के लिए

  • फोटो पहचान और पता प्रमाण: भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार केवाईसी दिशानिर्देश परिभाषित
  •  बिजनेस प्रूफ: शॉप एक्ट लाइसेंस / एमओए और एओए / जीएसटी पंजीकरण / आईटीआर, पार्टनरशिप डीड।
  •  चल रहे ऋणों का विवरण यदि कोई हो: स्वीकृति पत्र, परिशोधन अनुसूची/खाता विवरण
  •  संपत्ति दस्तावेज: संपत्ति शीर्षक कार्यों की पूरी श्रृंखला, स्वीकृत लेआउट / योजना/नक़्शा 

Read More-

  • Car Loan पूरी जानकारी।
  • होम लोन पूरी जानकारी।

Loan Against Property Fees and Charges

  • Processing Fees-3% तक
  • चुकौती लिखत स्वैप शुल्क -₹500 प्रति चुकौती परिवर्तन अनुरोध
  •  दस्तावेज़ शुल्क की सूची -₹1000 प्रति अनुरोध प्रति अनुरोध/दस्तावेजों की सूची
  •  डुप्लीकेट अनापत्ति प्रमाणपत्र/अदेय प्रमाणपत्र -₹500
  • ऋण पुनर्निर्धारण शुल्क- ₹ 1000
  •  भौतिक चुकौती अनुसूची -₹500
  •  खाते का भौतिक विवरण -₹500
  •  चेक स्वैप शुल्क -₹500
  •  प्रारंभिक धन जमा शुल्क -₹6500
  •  दस्तावेज़ पुनर्प्राप्ति शुल्क (प्रति पुनर्प्राप्ति) -₹500
  •  देर से भुगतान/दंड शुल्क/अवैतनिक-ईएमआई का 2% या ₹300 जो भी अधिक हो
  •  ईएमआई पिकअप/कलेक्शन शुल्क -₹350
  •  ईएमआई बाउंस शुल्क- ₹400 प्रत्येक अनादरित प्रस्तुति के लिए
See also  Indusind bank personal loan fees and charges and apply online in hindi-

 

ये भी पढ़े-

 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

प्रश्न-संपत्ति के अधीन ऋण की न्यूनतम और अधिकतम अवधि क्या है?

उत्तर– Loan against property में बैंक अपने ग्राहकों को न्यूनतम 12 महीने से लेकर अधिकतम 240 महीने तक की लोन अवधि प्रदान करते हैं।

 

प्रश्न-क्या संपत्ति के अधीन में ऋण लेना एक अच्छा विचार है?

उत्तर- बिलकुल, क्यों कि इस लोन में आपको ज़्यादा से ज़्यादा लोन मिल जाता हैं और Secure लोन होने के कारण आपको व्याज दर कम मिल जाती हैं। यही आप पर्सनल लोन से तुलना करे तो आपको 40लाख तक हाई मिलेगा और व्याज दर 20% तक मिल सकता हैं।

 

प्रश्न- संपत्ति के अधीन में कर्ज के लिए कौन सा बैंक सबसे अच्छा है?

उत्तर- इसमें दो factor मायने रखते हैं। पहला आप कितने समय के लिए लेना चाहते हैं दूसरा व्याज दर। क्यों की कुछ बैंक आपको 20 वर्ष के लिए भी ऑफ़र कर रहे हैं और व्याज दर 8%. मेरे हिसाब से अपको IDFC FIRST BANK या एचडीएफ़सी बैंक में विज़िट करना चाहिए।

5/5 - (1 vote)
Share
Spread the love

Leave a Comment